दान करने वाले दानवीरों के लिए कंपनी को 100 मीटर लम्बा कंबल बनाना चाहिए, जिससे कि सभी हाथ लगा सकें

देश के ज्यादयर उत्तरी हिस्से में तापमान न्यूनतम स्तर पर पहुँच चुका है। इसमी कई राज्यो और शहरों में ठंड ने अपने 50 साल के रिकॉर्ड को तोड़ दिया है। कही कही टी 100 साल का न्यूनतम तापमान रिकॉर्ड खतरे में बना हुआ है।

इसकी सबसे ज्यादा चिंता जो लोग बेघर है उनके लिए है। ऐसे लोगो को चिंता करने की जरूरत नही है। हर साल की तरह इस साल महान दानियो के द्वारा कम्बल वितरण अभियान शुरू कर दिया गया है।

इसके साथ ही अब बेघरों को कम्बल मिल जाएगा। उनकी चिंता मुक्त हो जाएगी। लेकिन जब महान दानियो के द्वारा गरीबो को कम्बल देते वक्त फ़ोटो खीचवाना काफी ज्यादा मुश्किल हो जाता है। सामान्य कम्बल का आकर बहुत छोटा होता है।

Uc news india के एक सँवाददत्ता का कहना है कि हमारा कम्बल बनाने वाली कम्पनी सेआग्रह है कि वो ऐसे कम्बल के आकर की बढ़ोतरी करे।
अगर कम्पनी 100 मीटर लम्बे कम्बल का निर्माण कर दे तो यह दान करने के इच्छुकों पर कम्पनी की बड़ी मेहरबानी होगी।

अगर कम्पनी 100 मीटर लम्बे कम्बल बनाती है तो उसका कारोबार खूब बढेगा क्योंकि इसे दान करते वक्त कई महान दानों एक साथ आसानी से पकड़ सकेंगे। ऐसे में कम्पनियों को दानियो की तरफ से रिकॉर्ड ऑर्डर मिल सकते ह।

इसमी k Rajesh नाम के एक यूजर ने ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा कि अच्छे लोगो से।दुनिया खाली नही है,आज भी इंसानियत जिंदा है। 20-25 लोग मिलकर एक मरीज को केला देते हुए। यह तो बेचारे एहसान से मर जाएगा।

Leave a Comment