माहा आब्दो:ऑस्ट्रेलिया में मुस्लिम औरतों के हिजाब पहनने के हक में सफल लड़ाई लड़ने वाली ‘अनसंग हीरो’,जानिए कैसे सफल हुई

हिजाब मुस्लिम समुदाय की लड़कियां पहनती है। बीते महीनों ही कर्नाटक में इसका जीता जागता सबूत देखने को मिला है।एक मुस्लिम समुदाय की लड़की जिसने हिजाबी को शुरू से पहना और आज एक मिसाल बनी है। जिनका नाम महो आब्डो है।

माहों साल 1988 में मुस्लिम वुमन्स एसोसिएशन से जुड़ गई। वह पहलीं मुस्लिम महिका है जिसने लीडरशिप वर्कशॉप का आयोजन किया। साल 1992 में उन्होजे 28 लड़कियों के साथ कार्यशाला को शुरू किया।

सिडनी के अंदर और बाहर मुसलमनो औरतों की मदद के लिए खासकर घरेलू हिंसा की शिकार सैकड़ो मुसलमनो महिलाओ की सहायता के लिए उन्होंने कई कफम को उठाया है। आगे चलकर अनमे बुजुर्ग और नोजवान की मदद करने वलय भी बनी है।

उन्होंने ऑस्ट्रेलिया में मुस्लिम औरतों के हिजाब पहनने के हक की लड़ाई भी लड़ी है।आज वह कई सांस्कृतिक की औरतों की सबसे मुखर भी आवाज है।

न्यू साउथ वेल्स स्बे ने साल 2014 से उन्हें अपना मानवाधिकार दूत बना रखा है। उन्हें सिडनी ने उन्हें साल 2021 की अनसंग हीरो यानी गुमनाम नायिका भी चुना है।

Leave a Comment