हज़रत मोहम्मद (स.अ.व.) ने इरशाद फरमाया, कयामत के दिन मोमिन के तराजू में अच्छे अख़लाक़ से ज्यादा ….

हजरत मोहम्मद मुस्तफा हमारे नबी है। हज़रत अबू अलदर्दा रज़िल्लाह अनहो से रिवायत है कि अल्लाह के रसूल सलललाहो अलैहे वसल्लम ने फ़रमाया ;

‘ क़यामत के दिन मोमिन के तराज़ू में अच्छे अखलाक से वजनी कोई चीज़ नहीं होगी , और अल्लाह फहश बात बोलने वाले व गाली गलौज करने वाले से नाराज़ होता है “

क़यामत के दिन लोगों के काम तौले जाएंगे जो उसने अपनी जिंदगी में अच्छे काम किए हैं और जो बुरे काम किए हैं उन का वज़न होगा अच्छे काम का वज़न ज़्यादा हुआ तो इंसान कामयाब और अगर बुरे काम का वज़न अधिक हुआ तो नाकाम

ऐसे समय में बेहतरीन अखलाक , अच्छे आचरण का वज़न सबसे अधिक होगा जिसके अखलाक अच्छे होंगे वही सफल होगा

इसी तरह जो बात बात में गाली देते हैं फहश बातें करते हैं उनसे अल्लाह नाराज़ होता है

Leave a Comment