रसूलअ’ल्लाह (स.अ.व.) नें फरमाया :- दीगर कौमें तुम पर ऐसे टूट पड़े जैसे खानें वाला किसी प्याले पर टूट पड़ता है तो एक कहनें वाले नें कहा…

ये वो हदीस है जिसमें हमारे नबी नें जो बात कहीं थी वो हम आज अपनी आंखों से देख रहे है….!

हिंदी में भी लिख देता हूँ शायद कुछ को उर्दू ना आती हो…

[ रसूरुल्लाह सल्ल्लाहू अलैही वसल्लम नें फरमाया करीब है कि दीगर कौमें तुम पर ऐसे टूट पड़े जैसे खानें वाला किसी प्याले पर टूट पड़ता है तो एक कहनें वाले नें कहा…
क्या हम इस वक्त तादात में कम होंगे….?

आप सल्ल्लाहू अलैही वसल्लम नें फरमाया नहीं…. तुम इस वक्त बहुत होगे लेकिन तुम सैलाब की झाग के मानिंद होगे अल्लाह तआला तुम्हारे दुशमन के सीनों से तुम्हारा खौफ निकाल देगा और तुम्हारे दिलों में वहन डाल देगा…

तो एक कहनें वाले नें कहा….

अल्लाह के रसूल वहन क्या चीज़ है…..?

आप सल्ल्लाहू अलैही वसल्लम नें फरमाया ” ये दुनियाँ की मोहब्बत और मौत का डर है ]

अब आप गौर करें क्या हमारे दिलों में आज दुनियाँ की मोहब्बत और मौत का डर मौजूद है या नहीं….खासतौर से भारत के मुसलमान में….

Leave a Comment