राफिया अरशद: ब्रिटेन की वह जज जिसने हिजाब को लेकर नही किया कोई समझौता,जानें कैसे हासिल किया यह मुकाम….

हिज़ाब विवाद को लेकर बीते महीने ही कर्नाटक में शुरी हुआ विवाद हर जगज भी फैला है। ऐसे वक्त में ऐसी भी महिलाओ और लड़कियों की कहानी सोशल मीडिया पर छपी है जिन महिलाओँ ने हिजाब को लेकर कोई भी समझौता नही किया और आज इतने बड़े मुकर्म पर है।

इन्ही में से एक राफिया अरशद है। राफिया हिजाब लगाती है और दो साल पहले ही वो ब्रिटेन में जज बनी है।

इंडिपेंडेंट की खबर के मुताबिक बता दे कि राफिया अरशद हिजाबी पहनने वाली पहलीं मुस्लिम महिला है। जो ब्रिटेन में जज बनी है। वह जल्द ही मिडलैंड्स में डिप्टीअटॉर्नी जनरल के रूप में पदभार संभालेगी।

40 वर्षीय राफिया अरषद का सम्बंध लीड्स से है। राफिया ने एक ब्रितिः अखबार को दिए इंटरव्यू में कहा था कि उन्होंने 11 साल की उम्र में जज बन्नई का सपना देखा था।

ला कॉलेज केंटरव्यू के दौरान परिवफ के लोगो ने उनसे हिजाबी उतारने केलिए भी कहा लेकिन उन्होंने इस बात से इनकार कर दिया।

राफिया अतषद ने आगे कहा कि मै मुस्लिम युवाओं को इस बात को बताना चाहती हूँ कि जो सोचते है उसे हासिल कर सकते है।

बता दे कि राफिया पिछले 15 सालों से सम्बंदित कानून, जबरन शादी,महिलाओ के ख़िलाक नस्लीय भेदभाव और इस्लामी कानून की प्रैक्टिस कर रही है।

Leave a Comment