बेटी ने पिता को सपने को सच कर दिखाया.. बनी IAS अधिकारी, पिता एक मामूली दुकानदार

कठिनाई तो आती रहती है लेकिन जीवन में आने वाली कठिनाइयों से निराशा होकर बैठना नहीं चाहिए बल्कि उसका सामना करने के लिए डटे रहना चाहिए।

मंजिल उन्हीं को मिलती है जिनके सपनों में जान होती है पंख होने से कुछ नहीं होता हौसले से उड़ान होती है इस बात को सच कर दिखाया IAS नमामि बंसल ने।

नमामि ने अपनी 10वी कक्षा में लगभग 93% मार्क्स।वही उन्होंने 12वी कक्षा में 95%मार्क्स आए। ग्रेजुएशन की डिग्री उन्होंने अर्थशास्त्र विषय सेप्राप्त की।

बता दे कि यूनिवर्सिटी की टॉपर रही नमामि को राज्यपाल के द्वारा साल 2017 में स्वर्ण पदक भी मिल चुका है।

उन्होंने 17 वी रेंक को हाज़िल किया है। उनकी इस सफलता की वजह से उनकी माँ बहुत ही ज्यादा खुश है ।

उनके पिता बर्तन धोने का काम करते है। जब उनको इस बात का पता चला तो उनकी खुशी का ठिकाना नही रहा।

Leave a Comment