मुस्लिम यूनिवर्सिटी बनाने की मांग करने वाले अकील अहमद को कांग्रेस पार्टी ने 6 साल के लिए पार्टी से निकाला….

उत्तराखण्ड विधानसभा चुनावी में मुस्लिम यूनिवर्सिटी की मांग को लेकर विवादों मेआए अकील अहमद को पार्टी ने बाहर का रास्ता दिखा दिया है। कांग्रेस से अनुशासन तोड़ने के आरोप मेंउन्हें 6साल के लिए पार्टी की प्राथमिकतासदस्यता से निकाल दिया है।

पार्टी से बाहर किए जाने के बाद भी अकील के रुख में कोइ भी कमी नही आई है। निष्काशन के बयान के बाद प्रदेश में मुस्लिम यूनिवर्सिटी बनकर रहेगी। चाहे इसके लिए उन्हें कोई चंदा ही क्यो मांगना पड़े
इसकी अलावा साल 2017 में उन्होंने पार्टी हार गई थी
हरीश रावत पर निशाना साधते हुए कहा है कि कांग्रेस के तत्कालीन मुख्यमंत्रीतो दो दो सीटों से चुनावी हार विधानसभा चुनाव हार गए थे।
मुस्लिम यूनिवर्सिटी उत्तराखण्ड विधानसभा चुनावी में बड़ा मुद्दा बन गया था। कांग्रेज़ नेता हरीश रावत ने कहा था कि भाजपा नेताऔरएक कांग्रेसी नेता उनकी छवि खराब करने की कोशिश कररहे है।
अगर उन्होंने प्रदेश में मुस्लिम यूनिवर्सिटी बनाने को लेकर कोई बयान दिया तो वह राजनीति छोड़ देंगे।

Leave a Comment