एक साथ 16 गोल्ड मेडल प्राप्त करने वाली बुशरा बोली,”मैं तहज्जुदगुज़ार नमाजी हूं,यह कामयाबी मेरी दुआओं और मेहनत”….

एक साथ 16 गोल्ड मेडल जीतना एक बहुत बड़ी बात होती है। एक तरफ कर्नाटक में हिजाबी विवाद दम लजे रहा है वही दूसारी तरफ कर्नाटक की रहने वाली बुशरा मतीन हिजाबी गर्ल ने एक साथ 16 गोल्फ मेडल जीतकर इतिहाज़ रच दिया है।

उन्होंने कहा है कि सभी समस्याओं का हल नमाज में है और कठिन मेहनत तहज्जुद की नमाज में मांगी गई दुआओं का नतीजा है। बता दे कि बुशरा मतीन को 10 मार्च को लोकसभा स्पीकर ओम बिरला और राज्यपलो के हाथो सम्मनित किया गया है।

कर्नाटक के जिला रायचूर में रहने वाली 22वर्षीय बुशरा मतीन ने कर्नाटक के विश्वेसरया प्रौद्योगिकी यूनिवर्सिटी से मान्यता प्राप्त एर्स एल एन कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग में सिविल इंजीनियरिंग में बैचलर की डिग्री को हासिल किया है। उन्होंने16 श्रेणियों में 16 गोल्ड मेडल जीतकर प्रथम स्थान प्राप्त किया है।

उन्होनेआगे कहा कि मैं नमाज और तहज्जुदरोजाना पढ़ती हूं। मैने तहज्जुद में अपनी कामयाबी के लिए अल्लाह से दुआए की है। आज अल्लाह ने मुझे कामयाब किया है।

यह कामयाबी इन्ही दुआओं का फल है। अपने भाई और बहनों में तीसरे नुम्बर पर रहने वाली बुशरा कहती है मेरा ईमान है कि नमाज सभी समस्याओं का हल है। नमाज की पाबंदी बहुत जरूरी है। तहज्जुद के वक्त मांगी हर दुआ कुबूल होती है।

Leave a Comment