शफहत आमना ने UPSC में कड़ी मेहनत से प्राप्त की 186 वी रैंक, बेहद गरीब परिवार में पली बढ़ी- पढ़िए दिलचस्प कहानी…

आज के दौर में हर लड़की एक शिक्षित होना चाहती है और जब एक लड़की शिक्षित होती है तो एक पीढ़ी शिक्षित होती है। आज हम बात करने जा रहे है

मुस्लिम समुदाय सेताल्लुल रखने वाली शफहत आमना से।जिन्होंने यूपीएससी की तैयारी करने के बाद अपने पिता और देश का नाम रोशन किया है।

शफहत आमना एक मध्यम परिवार से ताल्लुक रखती है। उनके पिता सेवानिवृत्त हो चुके है उनकाएक भाई है।उनकी एक बहन जो बीएड टेट पास करने के बाद जोइनिग की प्रतीक्षा में है। वही उनकी छोटी बहन जमिया मिलिया ए एलबी कर रही है।

शफहत आमना मैट्रिक साल 2009 में नवोदय विद्यालय से इंटर 2011 में डीपीएस बोकारो से और साल 2015 में ग्रेजुएशन पण्डिय उगम पांडे मोतोहरी से की है।

2016 से वह दिल्ली में रह कर यूपीएससी की तैयारियों में लगी हुई है।शफहत आमना ने इस बात को साबित कर दिया है कि अगर दिल मे पक्का इरादा हो तो UPSC में सफलता के लिए गरीबी आड़े नही आती है।

इसके साथ ही न ही बड़े शहरों में पढाई करने की जरूरत है।
शफहत आमना के माता और पिता बहुत ही ज्यादा खुश है कि उनकी बेटी ने अपने जिला और परिवार का नाम रोशन किया है।जो वाकिये में बहुत ही ज्यादा काबिले तारीफ भी है।

Leave a Comment